मेरी इक्कीस कविताएं

जय श्री कृष्णा दोस्तों. आप सब लोगों को प्रणाम जिनकी बदौलत आज मेरे ब्लॉग परअब तक दो सवा लाख लोगों का विजिट सम्भव हो पाया. ये आपलोगों का स्नेह ही है जो मुझे यहाँ खिंच लाता है और मेरी भावनाओं को अक्षरों में उतरने को प्रेरित करता है. मैं आप सब का बारम्बार धन्यवाद करता हूँ और आपसे मेरी कुछ हिट कवितातों के नाम बांटता हूँ जिनको खूब पढ़ा और सर्च किया गया… धन्यवाद, इस उम्मीद में की स्नेह सदा बना रहेगा!.

1. मैं वही हिन्दुस्तान हूँ
2. ये विष किसने फैलाया है
3. क्यों न जनता बाग़ी हो जाए
4. दिल कहता है कलम छोड़, अब बन्दूक उठा लूँ..
5. गिर रहे लोगों के भाव लिखो..
6. चुनाव नहीं मतदान करें
7. है दिल्ली से अनुरोध
8. बिहारी हूँ
9. सच को छुपा देता हूँ..
10. कोई बैर न कर
11. थू है ऐसी राजनीति पे
12. तेरा फतवा
13.आजादी के नव भोर में हम सब..
14. ऐसे उदाहरण हम प्रस्तुत करें
15. कैसे कह दूँ मैं ईद मुबारक?
16. आज सच लिखता हूँ…
17. अपने भारतवर्ष महान में..
18. मेरी सबसे बड़ी ख्वाहिश
19. तुमने ही मुझे संभाला है..
20. एक सिक्के की आस में
21. मै हूँ इस देश की गौरव

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: