Khwaab Saare Hi Toote Hai..

LoveThis is for you my magical bujji 😉

हसरतों की ना पूछो तुम,
ख्वाब सारे ही टूटे है,
ख्वाहिश जिनके साथ की,
वो हाथ हमसे छूटे है.
हसरतों की न पूछो तुम,
ख्वाब सारे ही टूटे है..

सब्र मेरी ना पूछो तुम,
उसके इन्तेजार में जागे है.
उम्मीद उसके लौट आने की,
जीने के बचे बहाने है.
हसरतों की ना पूछो तुम,
ख्वाब सारे ही टूटे है..

दिल ने माना है जिसको दिलबर,
वो नाज़नीं नजरों से ओझल है,
चाँद बिना उदास आज अम्बर,
हुआ शीत रहित दिसंबर है.
हसरतों की ना पूछो तुम,
ख्वाब सारे ही टूटे है..

हसरतों की ना पूछो तुम,
ख्वाब सारे ही टूटे है,
ख्वाहिश जिनके साथ की,
वो हाथ हमसे छूटे है.
हसरतों की न पूछो तुम,
ख्वाब सारे ही टूटे है..

Muhabbat karke jaana hai….!

Love Makes Life Beautiful

Love Makes Life Beautiful

मुहब्बत करके जाना है..!

नदियां निश्छल दीवानी होती है,
जिन्हें सागर से मिलने कि बेचैनी होती है।
फूलों कि ख्वाहिश में भवरें,
मदहोश मदमस्त गाने गाते है।
और क्यूँ चांदनी रात में,
चकोर चंदा से शरमाते है।

मुहब्बत करके जाना है..!

हर सीनें में दिल होता है,
जिनको दिलबर की हसरत होती है।
नजरें लाख छुपाएं,
इनमें सनम का इन्तेजार होता है।
और उठते है वो हाथ दुआओं के लिए,
सीनें में जिनके मुहब्बत होता है।

*****************************************
Muhabbat karke jaana hai….!

Nadiyan, nischhal deewani hoti hai,
Jinhein Saagar se milane ki bechaini hoti hai..
Phulon ki khwahish mein bhanwarein,
madhosh, madmast gaane gate hai..
aur kyun chandni raat mein,
chakor chanda se sharmate hai…

Muhabbat karke jaana hai….!
Har seene mein dil hota hai,
Jinko dilbar ki hasrat hoti hai..
Najrein laakh chhupayein,
Inmein sanam ka intejaar hota hai..
Aur uthate hai wo haath duaaon ke liye,
Seene mein jinke muhabat hota hai..

कुछ क़दमों तक साथ तो दो..

मत आना साथ मंजिल तक, पर कुछ क़दमों तक साथ तो दो..

मत सजाना मेरी दुनियां तुम, पर एक मीठा याद तो दो..

मत मिलना तुम हकीकत में, पर अपने हसीं ख्वाब तो दो..

मत दो मुझे कोई गम, पर जो भी है तुम्हारे वो बाँट तो लो।

दो पल तेरे साथ चलने से चलना सीख लूँगा, यकीं है..

तेरी यादों से अपनी दुनिया रंगीन कर लूँगा, यकीं है..

ख्वाब तुम्हारे हो तो जिंदगी यूँ ही हसीं हो जायेगी, यकीं है..

तेरे गम बाँट के ही अब मै खुश रहूँगा, यकीं है।

न करो तुम कोई वादा, पर इन्तेजार का हक तो दो..

मत आओ मेरे ख्वाब में, पर उन्हें देखने का हक तो दो..

मत हंसो तुम मेरी बातों से, पर अपने आंसू बाँट तो लो..

मत उलझो मेरी बातों में, पर ये जो भी है उसे सुझाने का मौक़ा तो दो।

तेरे इन्तेजार में भी जी लूँगा, यकीं है..

तेरे ख्वाबों से हकीकत में रंग बिखेरूँगा,  यकीं है..

तेरे आंसुओं को बाँट ही खुश रहूँगा, यकीं है..

तेरी उलझनों  को एक दिन सुलझा लूँगा, यकीं है।

मत बांटो तुम हमसे अपने गुजरे हुए दिन, पर खोयी मुस्कराहट का कारण तो दो..

मत  सुनो तुम अपने दिल की बात, पर इस दिल में है क्या वो बता भी तो दो..

दुनिया आपकी दीवानी हो जायेगी, पहुँचने  का उनको बस पता तो दो..

होंगी हर ख्वाहिश पूरी, अपनी हसरतों को तुम पंख तो दो।

तेरे मुस्कुरा देने भर से गुल खिल जाएगा, यकीं है..

दिल के सारे अरमान पूरे  हों जायेंगे, यकीं है..

खुशियाँ भी अब आपका पता पूछेंगी,  यकीं  है..

तुम हंस के फिजा में फिर से रंग बिखेरोगी, यकीं है।

-सन्नी कुमार
[एक निवेदन- आपको हमारी रचना कैसी लगी कमेंट करके हमें सूचित करें. धन्यवाद।]

तुमने अधुरा ही दिया है

खुदा तूने जाने क्या बख्शा है,
जो भी दिया है क्यूँ अधुरा दिया है,
दो पल की खुशियाँ,
और फिर गम ही दिया है।

एक मुझसा दोस्त तुमने मिलवाया,
पर उसको भी तुमने अधुरा ही दिया है,

उस दोस्त को दोस्ती पे भरोसा है कम,
सब बता के वो खुद को छुपा लेती है,
मुझे हंसा कर खुद रोने लग जाती है,
कोशिश भी की मैंने, मिन्नतें भी तुम्हारी,
फिर भी तुमने उसको नहीं हंसाया..?

वो उलझी है किस बात से न ही उसने बताया,
मैंने कोशिश की है पर समझ नहीं पाया,
मैं तो आता कम हूँ तेरे दर पर,
वो जाती अक्सर तुमसे मिलने है,
फिर भी तुमने उसको रुला के सबको हंसाया,
मेरी अर्जी तुमसे वो पालनहारे,
जिसने की है तेरी सेवा,

तू उसकी मुस्कराहट  लौटा दे ,
तूने जो जिंदगी दी है,
फिर पूरी दे ऐसे, उलझी न दे,
है मिन्नतें आपसे आपके ही राह चलूँगा,
आप देना ख़ुशी उसको, तभी अब आपको मानूंगा।

-सन्नी कुमार
[एक निवेदन- आपको हमारी रचना कैसी लगी कमेंट करके हमें सूचित करें. धन्यवाद।]