उस दर से मेरी सदा ही दुरी रखना

Life-iz-Amazing-Pray
Ek Duaa

उस दर से मेरी सदा ही दुरी रखना,
गुज़रकर जहाँ से लोगों के ईमान बदलते हो..

दब जाती हो चींख जहाँ सिक्कों की खनक में,
भूल जाते हो जाके खुद के वजूद को,
उस तेज से हमको महरूम ही रखना,
देख जिसको एक बार और कुछ दीखता नहीं हो..

—————————————-
Us dar se meri sadaa hi duri rakhna,
guzarkar jahan se logon ke eeman badalte ho..
dab jaati ho cheekh jahan sikkon ki khanak mein,
bhul jaate ho jaake khud ke wajood ko,
us tej se humko mahroom hi rakhna,
dekh jisko ek baar aur kuchh dikhta nahin ho..

Advertisements

Few Basic Tips For Search Engine Optimization

  • Great Content – Only Having all good keyword is not enough but you must have a great content. As we know content is king and it should be great in terms of reliability, importance and informative, so that people can found your web worthy and will stay around.
  • Regular Updates – Sites that have new content added on a regular basis are seen as more reliable than sites that rarely do.
  • Keyword –Keyword means a lot, In web world it’s famous that Content is king and keywords are keys to reach to the king means if you want to get more attention by improving your page search then you must have to use some tricky but relevant keywords as per your page contents. Always remember you shouldn’t try to optimize your entire site to one keyword phrase – instead focus on writing pages for specific keywords and phrases.
  • Use the Keywords in Title Tag – The title tag is one of the most important tags on your Web page. And placing your keyword phrase in the title tag, preferably at the beginning, is very important to get that phrase into the search engines. Plus, that puts your keyword phrase as the link in the search engine index.
  • Use the Keyword phrase in domain name or URL – Putting your keyword phrase in your domain name is a great way to optimize for that phrase, Even if you can’t get your keywords into your domain name, you can put them into your URLs. Search engines read the URLs and assign value to the text they find there.
  • Link with other sites – Ask other people for links to your page, A great way to get inbound links is to simply ask for them. Try to get link with reputed sites like .edu and .gov.
  • Keep your site content under one theme
  • Keep your site live as long as possible
  • Create a Site Map as search engines love sitemap.
  • Link All major images and also optimize your image with related image name.
  • Keep your page update – It makes not only your site update but also reliable.
  • Use Synonyms for your Keyword
  • Register a separate domain instead of sub domain (Register with .com over .biz or .co.in)
  • Use hyphens to separate or underscore to separate words in URLs
  • Don’t have more than 10 words in your URL
  • Write Short and Interactive Pages
  • Don’t make constant minor changes to content
  • Don’t separate content artificially
  • Don’t duplicate content on your site

 

तुझे याद करते-करते ग़ज़ल मैं लिखूँ

हृदयानुभूति

तुझे याद करते -करते कोई ग़ज़ल मैं लिखूँ
तेरे साथ गुज़रा लम्हा हर एक पल मैं लिखूँ.

ये दौर किस तरह का,कौन बताएगा यहाँ
हर शख्स की बदलती हुई शकल मैं लिखूँ।

इक रोज़ तो मिला था वो आप ही खुद से
उस रोज़ को खोजकर फिर धवल मैं लिखूँ।

मजहब तो कहता प्यार कर पर सुने है कौन
इस प्यार की बात पर कुछ नवल मैं लिखूँ।

तेरी याद जब भी आए भीग जाएँ मेरी ग़ज़लें,
ज़माने से छुपाने को संभल-संभल मैं लिखूँ।

View original post

क्यूंकि बहरी, भ्रष्ट है सरकार, अब सरकार ये बदल दो..

Stop Corruption

मिला मौका है इस बार, कि इतिहास अब बदल दो.
न करनी परे फिर से शिकायत, ये हालात अब बदल दो..
मिली आजादी विरासत में हमें, इसे स्वराज में अब बदल दो,
क्यूंकि बहरी, भ्रष्ट है सरकार, अब सरकार ये बदल दो..

अपने नहीं ये हमारे,
ना इनको देश का ही है ख्याल..
ये तो तुर्कों से है लुटेरे,
बुनते हर घडी लूट की चाल..

जनमानस की छोड़ ही दो आप,
इनको माँ भारती का भी ख्याल नहीं..
पकरे गए खरबों की चोरी में,
फिर भी आँखों में है इनके शर्म नहीं..

बख्शी थोड़ी इज्जत है,
जो कह दीया हमने सरकार,
जो दिल से पूछो तो कहूँ,
है यही असली गद्दार..

कभी हमें रंगों में बाँटते,
कभी दीन, दिशा के नाम पर,
देश का दुर्दशा कर दिया,
वोट पाते गाँधी के नाम पर..

इनको नहीं दीखते सपने स्वराज के,
इनको नहीं करनी अब चर्चा, लोकपाल की.
ये तो गूंगे, बहरे लोग है,
क्यूँ इनसे उम्मीदें बेकार की..

यही समय है सोच लो अब आप,
किसको जीते हो,
दिल से हो हिंदुस्तानी,
या अधिकार बस वोटों का रखते हो..

है जमीर जागा हुआ,
या आप भी उनसे हो,
जो नहीं तो फिर क्यूँ,
आप विज्ञापनों पे मरते हो?

आँखे खोलो देखों,
किस हाल में माँ भारती,
जो कर सके सुपरिवर्तन,
अब उसी का साथ दो..

है मुझें उम्मीद खुद से,
ऐतबार आप पे करता हूँ..
इसीलिए अपनी मन की बात,
आप तक सीधे रखता हूँ..

मिला मौका है इस बार, कि इतिहास अब बदल दो.
न करनी परे फिर से शिकायत, ये हालात अब बदल दो..
मिली आजादी विरासत में हमें, इसे स्वराज में अब बदल दो,
क्यूंकि बहरी, भ्रष्ट है सरकार, अब सरकार ये बदल दो..

-सन्नी कुमार
[एक निवेदन- आपको हमारी रचना कैसी लगी, कमेंट करके हमें सूचित करें. धन्यवाद।]

है समय से ये आजाद..

I don’t drink but i love to sit with my cousins, friends and colleagues when they get booze. I have experienced a lot of fun and came to know more and more about them, i must say a real self came out once people get drink.

This post is dedicated to all my friends, who have given me chance to sit with them and enjoy their oscar winning performances 😉

बड़ी सीधी है बातें इनकी ,
नवाबों सा है अंदाज.
आँखों में छाये मस्ती,
है समय से ये आजाद..

नाम उनका तब बताएं,
जब हो कोई वो ख़ास.
वो मगरूर दीवाना है,
होता हर किसी के आस-पास..

न उम्र इनकी पूछो तुम.
ये जवां हुआ फिर आज.
है गम-ए-मुहब्बत सीने में उनके,
फिर भी मुस्कुरा कर, करते समय पर राज़.

टूट जाए जो डोर पतंगों के,
और फिर जो हो जाये आजाद,
कुछ तबियत इनकी भी ऐसी ही है,
ये  भी झूमते, उड़ते, गिरते उसी अंदाज..

दिन में दीन मिलते है,
ये तो रातों के सौदागर है.
पता बस झीलों का होता है,
पानी तो सर्व व्यापक है…

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: