जी. डी. गोएनका गया के बच्चो ने लहराया परचम

24059096_1920186667996017_7721139294086004020_nरसलपुर : गया-पटना मुख्य पथ पर अवस्थित जी०. डी० गोएंका पब्लिक स्कूल के बच्चो ने एक बार फिर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देते हुए अपने विद्यालय और शहर का सम्मान बढ़ाया । NIIT द्वारा आयोजित इस सत्र के सबसे बड़े आई टी इवेंट “आई टी फेस्ट-2017” जिसमे राज्य के विभिन्न विद्यालयों से चयनित छात्रों के बीच आई टी क्विज प्रतियोगिता प्रतियोगिता कराई गई थी , प्रतियोगिता ज्ञान ज्योति पब्लिक स्कूल में हुआ जहाँ राज्य के विभिन्न शहरों से चयनित दस सर्वश्रेष्ठ विद्यालयों के बीच दो चरण में प्रतियोगिता कराया गया , जिसमे विद्यालय के कंप्यूटर शिक्षक सन्नी कुमार के नेतृत्व में आंठवी की छात्रा गीतांजली कुमारी, सातवी के छात्र आदित्य मेहता एवम रोनिल सिंह ने भाग लिया और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देते हुए प्रतियोगिता में रनर अप ट्रॉफी सुरक्षित किया । बच्चो की इस शानदार सफलता से अभिभूत विद्यालय की बच्चो की इस शानदार सफलता से अभिभूत विद्यालय की प्राचार्या श्रीमती निधि जोशी ने सफल छात्रों को बधाई देते हुए सभी छात्रों को और लगन के साथ अध्ययन में और रूचि लेने के लिए प्रेरित किया और कहा कि छात्रों का परिश्रम ही उनके समाज और देश को भविष्य में उज्जवल बनाएगा ।छात्र ये ना समझे कि वो सिर्फ खुद के लिए पढ़ते है ,उनकी सफलता से उनका परिवार , विद्यालय और शहर भी गौरान्वित होता है अतः विद्यार्थियों को अपने पढाई को लेकर गंभीर होने चाहिए ताकि भविष्य में ऐसी हज़ारो सफलता उन्हें मिले। इस कार्यक्रम का सञ्चालन NIIT पदाधिकारी अमित कुमार के नेतृत्व में संपन्न हुआ जहाँ आरा समेत राज्य के कई गणमान्य उपस्थित थे ।

 

Advertisements

सनम बनाना चाहता

IMG-20170630-WA0027खूबसूरत हो इतना कि तुमसे ख्वाब भी शरमाता है,
चांद की चांदनी भी तुम्हारे सामने फीका नज़र आता है,
मैं और मेरी बिसात क्या, जो भी देखे तुमको उसे प्यार हो जाता है,
जानेमन तुम नूर हो, ये दिल तुमको सनम बनाना चाहता है।
-सन्नी कुमार

आज तू और आसमां

IMG_20170612_075616
Wd Love

आज तू और आसमां, मुझपे दोनों ही मेहरबान है..

तुम्हारे एहसासों की गर्मी और ये बारिश की नरमी,
हर रिश्ते की गर्माहट, देती खुशियों की नई आहट,
सपनों से अपनों तक का करता आज सफर,
ये खूबसूरत लम्हें ही तो है, जिनपे करूं मैं खूब फकर..

आज तू और ये रेल, मुझपे दोनों ही मेहरबान है..
तुम्हारे दिल पे मेरा जोर, और इंजन के सीटियों का शोर,
है ये रोमांचकारी भोर, जो ले जा रहा सपनों की ओर,
सरपट दौड़ता ट्रेन का चक्का, और साथ तुम्हारा पक्का,
ये मिट्टी की ख़ुशबू वाला इत्र, और तुम्हारा मेरे कंफर्ट को लेकर फ़िक्र,
ये खूबसूरत यात्राएं हीं तो है, जिनका करूं मैं खूब जिक्र..
-सन्नी कुमार

बस मुस्कुरा देता हूं…

तुम याद आती हो अब भी रोज़, पर फिर मैं भुला देता हूँ,
दिल चाहता है तुमसे रूबरू होना, पर हसरतों को दिल में दबा देता हूँ,
आज भी उलझता हूँ, उन रूठे ख्वाबों को सहेजने में,
पर अब हकीकत की खुशी है इतनी,
कि जिन्दगी को कर शुक्रिया, बस मुस्कुरा देता हूं…
-सन्नी कुमार

तुम्हारा जिक्र जरुरी है..

My Secret Diaryजिन्दगी के किताब में,
तुम्हारा जिक्र जरुरी है,
प्यार से महके मेरा जीवन,
सो तुम्हारे यादों का इत्र जरुरी है..
जिन्दगी के किताब में,
तुम्हारा जिक्र जरुरी है..

बेहतर है आज मेरा कल की रूसवाइयों से,
पर इस वर्तमान के मोल की खातिर,
तुम्हारा इतिहास जरुरी है..
जिन्दगी के किताब में,
तुम्हारा जिक्र जरुरी है..
-सन्नी कुमार

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: