गया पटना रुट में गया स्टेशन के नजदीक मालगाड़ी का चक्का उतरा, ट्रेनें लेट

कल उसे एक अत्यावश्यक काम से कहीं जाना था, साधन के रूप में उसके पास एकमात्र विकल्प भारतीय रेल था, वह तय समय से पहले स्टेशन पहुंच कर अपनी टिकट, अपना सीट सुरक्षित कर चुका था। अब गाड़ी खुलने का समय भी हो चला था पर गाड़ी खुल नहीं रही थी, ना इस देरी को लेकर कोई सूचना प्रसारित की जा रही थी। लोग आपस मे तरह तरह की बात कर रहे थे जिनमें सर्वाधिक, ट्रेन के देरी को लेकर थी तभी किसी ने सूचना दी कि एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई है और अगले ५-६ घण्टे तक किसी भी गाड़ी के खुलने की संभावना नहीं है।
अब उसके पास दो या तीन विकल्प थे एक जो कि सर्वोत्तम था कि यातायात के अन्य साधनों पे विचारे, पर जैसा कि पहले भी लिख चुका हूं कि ट्रेन एकमात्र विकल्प था बावजूद बसें भी चलती थी पर घटिया सेवा के कारण उनको लोग गिनते नहीं, पर आज तो बसों में इतनी भीड़ थी की लग रहा था मानो उसमे आदमी नही मुर्गियां लादे जा रहे हो और वो भी दोगुने किराये पर! खैर बिहार में लोग मौकों का नाजायज़ फायदा उठाते ही है यही सोंच वह बस को नकारते हुए, अपने घर वापिस आ गया और सम्भवतः वह ट्रेन परिचालन शुरू होने पर ही सफर करेगा, वहां उसके जैसे सैकड़ों और लोग थे जिनको आज बहूत तकलीफ़ हुई होगी, पर क्या सबों की मानसिक स्थिती एक रही होगी? क्या लोग नाराज नहीं हुए होंगे? क्या वो दुखी, बेचैन, झुंझलाए न होंगे? अगर हुए होंगे तो क्या कुछ बदला होगा?
खैर इस प्रसंग का उद्देश्य आपको कहानी सुनाना, बस वाले को कोसना या ट्रेन की सूचना केन्द्र का अत्यंत धीमा होना, बताना नहीं था बल्कि दो कारण थे इसको लिखने के पहला की किसी भी स्थिति में चाहे आप एक्शन को कंट्रोल करने की स्थिति में हो या न हो, पर आप हमेशा प्रतिक्रिया(रिएक्शन) को कंट्रोल कर सकते है, और दूसरा की इंसान है तो इंसान की तरह ही सोंचे और सफर करे, ये मुर्गी और बन्दर बनते शोभा नहीं देता। 😜

(गया पटना रुट में गया स्टेशन के नजदीक मालगाड़ी का चक्का उतरा, ट्रेनें लेट)

Advertisements

Feedback Please :)

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: